इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना महामारी को मात देगा गिलोय, जानिए कैसे करें इसका सेवन

इम्यूनिटी बढ़ाकर कोरोना महामारी को मात देगा गिलोय, जानिए कैसे करें इसका सेवन

Highlights

-घर में रहना कोरोना वायरस को मात देने में काफी कारगर है, इसके साथ ही आप अपने खान-पीन में हल्के बदलाव कर इस जंग में खुद को मज़बूत कर सकते हैं

-कोरोना वायरस को मात देने के लिए सबसे जरूरी है कि अपनी इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूद रखना

-माना जाता है कि (Benefits of Giloy) गिलोय बुखार के लिए रामबाण है

कोरोना वायरस  का कहर भारत में भी लगता बढ़ता जा रहा है और अभी देशभर में हुए लॉकडाउन की वजह से लोग कोरोना से बचने के लिए घरों में ही पैक हैं। घर में रहना कोरोना वायरस को मात देने में काफी कारगर है, इसके साथ ही आप अपने खान-पीन में हल्के बदलाव कर इस जंग में खुद को मज़बूत कर सकते हैं। कोरोना वायरस को मात देने के लिए सबसे जरूरी है कि अपनी इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूद रखना। माना जाता है कि (Benefits of Giloy) गिलोय बुखार के लिए रामबाण है। यह इम्यूनिटी बूस्टर के रूप में भी काम करता है। इसलिए इसके आयुर्वेदिक गुण के लिए इसे जीवन्तिका भी कहा जाता है। आयुर्वेद में इसका इस्तेमाल कई बीमारियों के लिए किया जाता है। बरसात के मौसम में होने वाली वायरल बीमारियों मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया में गिलोय का सेवन किया जाता है। मच्छर से होने वाली बीमारियों में यह काफी फायदेमंद है। लेकिन इसका इस्तेमाल कैसे किया जाए, कब खाना चाहिए और खाने का सबसे सही तरीका क्या है। आइए जानते है इसके गुण व इसके फायदे…

ब्लड शुगर कंट्रोल करने में करता है मदद

गिलोय का इस्तेमाल अक्सर बुखार में किया जाता है। बुखार के अलावा इसका उपयोग कई औषधीय गुण के लिए भी किया जाता हैं। डेंगू में गिलोय का सेवन प्लेटलेट्स कम होने पर किया जाता है, जिससे प्लेटलेट्स बढ़ाने में काफी फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा गठिया रोग के लिए भी बहुत फायदेमंद होते हैं। यह डायबिटीज मरीज को ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मदद करता है।

एक ग्राम से ज्यादा न करें इस्तेमाल

बुखार में गिलोय का सेवन पाउडर, काढ़ा या रस के रूप में किया जाता है। इसके पत्ते और तने को सुखाकर पाउडर बनाया जाता है। वहीं बाजार में गिलोय की गोली भी मिलती हैं। गिलोय का एक दिन में 1 ग्राम से ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

कब-कब करें इस्तेमाल

गिलोय का सबसे अधिक सेवन बुखार में किया जाता है. हमेशा जवां बने रहने के लिए भी गिलोय का सेवन किया जाता है। गिलोय का इस्तेमाल पाचन तंत्र को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है।डायबिटीज के रोगी को ब्लड शुगर कम करने के लिए गिलोय खाना फायदेमंद होता है। इसका इस्तेमाल डेंगू में ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए किया जाता है। वजन कम करने में गिलोय का जूस काफी लाभकारी होता है।

जानिए इसके लाभ

गिलोय का इस्तेमाल बुखार में एक आयुर्वेदिक दवा के रूप में लाभ पहुंचाता है। इसका इस्तेमाल डायबिटीज रोगियों के लिए बहुत सारे फायदे हैं। डायबिटीज में गिलोय का सेवन करने से ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है और पाचन तंत्र बेहतर बनाता है। यह इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मददगार होता है। मोटापा कम करने के लिए गिलोय के अनेक फायदे हैं क्योंकि इससे शरीर के मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है।