कोरोना वायरस के चलते अब मध्य प्रदेश में 50 टन आक्सीजन की आपूर्ति बड़ी। 

कोरोना वायरस के चलते अब मध्य प्रदेश में 50 टन आक्सीजन की आपूर्ति बड़ी। 

कोरोना वायरस के चलते अब मध्य प्रदेश में 50 टन आक्सीजन की आपूर्ति बड़ी। 

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का सक्रमण प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है इस सक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार ने मध्यप्रदेश में 50 टन प्रतिदिन आक्सीजन उपलब्ध कराना शुरू कर दिया है। अभी मध्य प्रदेश में 180 टन आक्सीजन हर रोज मिल रही है। ऑफिसियल बताया गया की राज्य को 50 टन अतिरिक्त आक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है। इस तरह से अब अपने मध्य प्रदेश में 180 टन आक्सीजन उपलब्ध है। जबकि वर्तमान समय में 110 टन  के आसपास की आक्सीजन की जरूरत है। इससे पहले मध्य प्रदेश में 130 टन आक्सीजन उपलब्ध हो रही थी। अब राज्य में 50 टन अतिरिक्त आक्सीजन उपलब्ध होने के बाद अब आक्सीजन सख्या 180 पहुंच गयी है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय शिवराज सिंह चौहन ने केन्द्रीय रेल, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल को अतिरिक्त ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए धन्यवाद देते हुए कहा है, मध्य प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन उपलब्ध है अभी किसी को भी इसके ऊपर चिंता करने की जरूरत नहीं है। शिवराज सिंह चौहन ने कहा की मध्यप्रदेश में पहले से ही पूरी तैयारी कर ली गयी है और अब केंद्र सरकार ने मध्यप्रदेश में 50 टन प्रतिदिन आक्सीजन उपलब्ध करने के बाद आक्सीजन की कमी होने की कोई सम्भावना नहीं है।

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने केन्द्रीय मंत्रालय को मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की आवश्यकता से अवगत कराया था।  आपको बता दे की मध्य प्रदेश में मरीजों की सख्या बढ़ने के साथ साथ ऑक्सीजन की आवश्यकता भी बढ़ गयी है। ऑक्सीजन की बडी आपूर्ति महाराष्ट्र से होती है, मगर मांग के अनुरुप ऑक्सीजन की उपलब्धता न होने पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री माननीय उद्घव ठाकरे से भी बात की थी. साथ ही शिवराज सिंह चौहन ने भरोसा दिलाया था कि ऑक्सीजन की कमी नहीं होने दी जाएगी.

 

Letest News